Thursday, May 23, 2024
Google search engine
HomeBusinessमोमबत्ती के व्यापार कैसे शुरु करें पूरी जानकारी

मोमबत्ती के व्यापार कैसे शुरु करें पूरी जानकारी

( How to start candle Making Business in Hindi):

मोमबत्ती एकमोम से बना एक गोलाकार या चपटा टुकड़ा होता है जिसमे एक बाती लगी हुई होती है,मोमबत्ती से सभी लोग परिचित होगें यह बताने की जरुरत नहीं है, जब बात होती है कम पैसे निवेश करके व्यापार शुरु करने के लिए तो उसमें मोमबत्ती का व्यापार नए स्टार्टअप के लिए एक अवसर हो सकता है, पहले मोमबत्ती का इस्तेमाल उजाले के लिए भी किया जाता था, लेकिन आज के समय मे बिजली भी पर्याप्त आ रही है और इनवर्टर व सौलर लाइट के होने से इसके मांग में कुछ कमी आयी है लेकिन फिर भी इसका डिमांड रहता है क्योंकि लोग इसका इस्तेमाल घर की सजावट, धार्मिक कार्यो मे, व विभिन्न त्योहारों जैसे दिवाली व क्रिसमस में इसका जबरदस्त मांग रहती है। इसलिए इस बिजनेस से पार्ट टाइम या फूल टाइम कर सकते है,  

मोमबत्तियों के प्रकार

जरुरत के हिसाब  आज के समय मे मोमबत्ती मुख्यतः पांच प्रकार की बनाई जा रही है, जो मार्केट में आसानी से उपलब्ध है.

  1. टी कैंडल
  2. जन्मदिन के लिए मोमबत्ती
  3. खुश्बु  वाली मोमबत्ती
  4. रोजाना प्रयोग होने वाली सादा मोमबत्ती
  5. सजावट के लिए प्रयोग होने वाली मोमबत्ती

मोमबत्ती व्यापार के लिए वित्तीय योजनाः (Candle making business financial plan)

कोई भी सफल व्यापार करने के लिए आपको अपने व्यापार के लिए उसकी फिनांशल प्लानिंग  का एक प्रारुप बनाना जरुरी होता है, जिससे आपको पता चल जाता है कि आप अपने व्यापार को किस स्तर से शुरुआत करनी है और कितनी लागत का खर्च हो सकता है, छोटे स्तर से शुरु करना है या बड़े स्तर से जिसके लिए आपको जो लागत लगेगी वह आपके पास है या लोन लेने कि आवश्यकता होगी और उसका कितना ब्याज होगा ये सब जानकारी को इकट्ठा कर लेने से एक सबका खाका (Blueprint) तैयार हो जाएगा जिसकी सहायता से बिजनेस करने में सहायता मिलेगी।

मोमबत्ती के लिए कच्ची सामग्री ( Candle making business raw materials)

मोमबत्ती के निर्माण में मुख्य रुप से 8 प्रकार के कच्चे माल की जरुरत होती है जो निम्न प्रकार  है.

कच्ची सामग्रीमात्रामूल्य
बर्तन या पॉट1 पैन260 रुपये
मोम (वेक्स)1 किलो ग्राम115 रुपये
कैस्टर तेल1 लीटर300 रुपये
मोमबत्ती के धागे1 रोल40 रुपये
रंग1 पैक100 रुपये
सुंगंध के लिए सेंट1 बोतल250 रुपये
थर्मामीटर1150 रुपये
ओवन15000 रुपये

मोमबत्ती के व्यवसाय को शुरु करने के लिए आवश्यक स्थान ( Area for candle making business)

सबसे पहले इसका व्यापार करने से पहले आपको अपने मार्केट के डिमांड को देखना होगा कि किस टाइप कि मोमबत्ती की मांग अधिक है और आप इस व्यवसाय  एक छोटे से कमरे के साथ भी शुरु कर सकते है, और बाद में आवश्यकता पड़ने पर जरुरत के हिसाब से बढ़ा सकते है, जिसके लिए आपके पास कच्चा माल रखने की भण्डारन की स्थान और मोम को पिघलाने के लिए जगह और एक कमरा कंपनी आफिस के लिए भी होने चाहिए.

मोमबत्ती को बनाने की प्रक्रिया (Candle making process)

मोमबत्ती को हाथ से बनाने की प्रक्रियाः 

मोमबत्ती बनाने की प्रक्रिया काफी आसान होती है 

  1. मोमबत्ती को हाथों से बनाने के लिए मोम को गर्म करके 290 डिग्री से 380 डिग्री तक पिघलाया जाता है. 
  2. उसके बाद जिस आकार एंव प्रकार की मोमबत्ती को बनानी होती है उस आकार के सांचे लेकर  धागे को फिट कर दिया जाता है उसके बाद उसमे गर्म मोम को सांचे में डाल कर ठंडा होने तक होने के लिए छोड़ दिया जाता है.
  3.  फिर इसको बिक्री के लिए  पैक किया जाता है

2. मोमबत्ती को मशीन से बनानाः  अगर आप मशीन की सहायता से मोमबत्ती को बनाना चाहते है तो मार्केट में मुख्यतः तीन प्रकार के मशीन उपलब्ध है 

  1. मैन्युअल मशीन
  2. अर्ध्द स्वचलित मशीन
  3. पूर्ण ऑटोमेटिक मशीन

मोमबत्ती को बनाने में लगने वाला समय (Candle making time)

मोमबत्ती के निर्माण एक वर्कर लगभग 1 घंटे में 150 से 200 तक मोमबत्ती को बना सकता है. यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस प्रकार कि मशीन का प्रयोग कर रहे हैं।

मोमबत्ती के व्यावसाय की  कुल लागत (Candle making business total cost)

आप इस बिजनेस को लघु स्तर  शुरु करना चाहते है तो आपके 10,000 से लेकर 50,000 तक रुपये की लागत से शुरुआता कर सकते है, और अपनी लागत के अनुसार इसे कम या ज्यादा कर सकते है,उसके साथ जैसे ही आपके अपने व्यापार को बढ़ाना चाहते है तो उसके लिए अपनी जरुरत के हिसाब से मशीन को खरीद सकते है और अपने व्यापार को विस्तार कर सकते है. लघु और कुटीर व्यापार के लिए सरकार के द्वारा भी कई योजनाए चलाई गयी है जिसकी मदद से आप अपने व्यापार को शुरु कर सकते हैं.

मोमबत्ती के बिजनेस में लाभः

मोमबत्ती के व्यापार को शुरु करने के लिए ज्यादा लोगो की आवश्यकता नही होती है जिससे कारण अन्य व्यापार की तुलना में कम खर्च में अधिक लाभ होता है, आपको अपने कम्पटीटर(प्रतिद्वंदी) को ध्यान में रखकर मोमबत्ती बनाने वाले खर्चो को देखते हुए अपना मूल्य का निर्धारित करके लाभ का मार्जिन रखना चाहिए। आपको हमेशा कोशिश करें की आपके अपने प्रतिद्वंदी से कम मूल्य रखनी चाहिए जिससे आपके प्रोड़क्ट की मांग मार्केट में अधिक हो

मोमबत्ती की पैकिजिंग (Candle packaging)

मोमबत्ती को बना के तैयार करने के बाद यह उसकी पैकिग अंतिम प्रक्रिया है यह हाथ और फिलिंग मशीन दोनो प्रकार से की जाती है, मोमबत्ती की पैकेजिंग के समय एक बात का विशेष ध्यान दिया जाता है पैकिंग से ही मोमबत्ती की सुरक्षा की जाती है जिसके कारण अधिक गर्मी के कारण मोमबत्ती खराब नहीं होती है। इसको आकर्षण बनाना जरुरी होता है, आप सुने होंगे जो दिखता है वही बिकता है, इस लिए इसका पैकिग उसके आकार के अनुसार जिसमें पैक करे उसमें अपमे ब्रांड का स्टीकर भी चिपका दें जिससे आपकी मार्केट में पहचान बन सकें.

व्यापार की मार्केटिंगः किसी भी व्यापार की सफलता में उसके विज्ञापन का अहम रोल होता है, अतः आपको भी अपने मोमबत्ती के व्यापार का विज्ञापन करना होगा, जिससे अधिक लोग आपके प्रोडक्ट का जाने। यह निम्न प्रकार से किया जा सकता है, 

  1. पोस्टर के माध्यम से.
  2. अखबार में विज्ञापन के माध्यम से
  3. सोशल साइट जैसे फेसबुक, आदि के माध्यम से.
RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments